There was an error in this gadget

Thursday, June 30, 2011

For my friends....

My line of today post are for my some of the awesome friends....hey guys thats wonderful that i got some great friends in the form of u....and the days spend together was awesome...i miss u guys...

ए मेरे दोस्तों तुम जरा गौर करना,
हो जाये कोई भूल तो न बैर रखना,
हम हमेशा रहेंगे तेरे साथ में यूँ,
आ जाये आंधी या हो कोई तूफ़ान,
होंगे तेरे साथ ये विस्वास रखना,
ग़म हो या हो खुशी कोई चाहे,
बस आवाज़ देना और हमें याद रखना,....!!


From urs friend....
                            Suchita yadav.....



Wednesday, June 29, 2011

जिंदगी

जिंदगी

बिखरे हुए पन्नो के फिर से सिमट जाने का,

आँखों को नए सपने दिखने का,

फिर उन सपनो में ही कही ग़ुम जाने का,

पलकों से उन दो आसुओं के छलक जाने का,

और इतने में ही पलकों के भीग जाने का,

दिल से पलकों के बीच एक रिश्ता बन जाने का,

एक.अधूरा,कुछ पूरा सा नाम है जिंदगी.....

सब कुछ परछाइयों में कही ग़ुम सा जाता है,

खड़े होते है कुछ मुस्किल से मुकाम सामने,

आशाओं की चादर पे धूल से जम जाती है,

हर सपना नाकाम सा नजर आता है,

और हम किसी मोड़ पर अकेले खड़े रह जाते है,

इसी दर्द से तो अनजान है जिंदगी,

और फिर अंधेरो में नए उजाले ढूंढ लाने का

एक अधूरा कुछ पूरा सा नाम है,जिंदगी....!!!!!


Monday, June 13, 2011

सोचती हूँ मै...!!!!


सोचती हूँ मै 

इस जिंदगी में कही कुछ कमी सी है,
सोचती तो हू मै बहुत,
पर जाने क्यों इन आँखों में नमी सी है,.
अपने ही आप में कुछ अकेली सी हू मै,
सब कुछ सिमट कर मुझमे समा गया है,
इस अनजानी सी भीड़ में हर चेहरा नया है,
जब इन चेहरों में अपना न कोई ढूंढ़ पाती हूँ,
तो फिर से एक दर्द उभरता है,
फिर एक तन्हाई छाती है,
न जाने ये काली रात बार बार क्यों आती है,
क्यों इस अनजानी भीड़ में कोई अपना नही है,
क्यों ये सारे चेहरे इतने पराये से है,
दोस्तों के नाम पे बस कुछ साए से है,
उन्हें भी अपना बनाऊं या नही,
आज कल इसी सोच में पड़ी हू मै,
सोचती तो हू मै बहुत,
की इस जिंदगी में वो क्या कमी सी है,
बस सोचती हूँ मै.......

Friday, June 3, 2011

दोराहा..



दोराहा..

ज़िन्दगी के अजीब दोराहे पर आके कड़ी हूँ मै,
किधर जाऊं इस सोच में पड़ी हूँ मै,
मन कहता है,मेरी राह पे जा,
दिल कहता है मेरी पे चल के तो दिखा,
और दिमाग कहता है,अपनी नयी दिशा बना,
सोचने पे मजबूर हूँ मै की, दोराहे से,
एक नया रास्ता कैसे निकल आया,
मेरा दिमाग भी अपनी नयी धुन है लाया,
सपने देखे है मैंने कई,
पर शायद उनकी राह आसान नहीं,
बस इन सब उथल पुथल के बीच निशब्द सी,
अचेत सी,कुछ शांत सी,अकेली खड़ी हूँ मै,
एक घना अँधेरा चारो तरह फैला है,
और मुझे भी अजीब सा डर लग रहा है,
इस अँधेरे में दिशाहीन मै कही खो जाऊं,
आशाओं के बोझ तले कही बिखर ना जाऊं,
अन्दर एक तूफ़ान है,तो बहार भी सुनसान है,
आपको क्या बताऊं की खुद से ही,
अन्दर कितना लड़ रही हू मै,और,
आज फिर एक दोराहे पर आकर खड़ी हूँ मै.......!!


Thursday, June 2, 2011

Life..

Life at any time can became difficult,
Life at any time can become easy,
Good or Bad,they are the seasons on life,
Its all depends upon,
How u take on life,And adjust the seasons....

As I said in the above lines that are truth of our life,but still there is a confusion that are we living our life correctly,there is nothing that should be corrected???? In my life my answer is definitely 'yes' because now i realize some of my special moments of my life is still remaining to cheer and some moments that i cherished a lot,can be better than that...as we knows that all the time we are not satisfied from the things that we got in our life,we still have some problem with each and every thing of life that we have already got....May be some of us thinks that its because of others and some of us say that it all because of us....But its human nature that when the things left behind unsatisfactorily  then we always blame on others...But really we don't have to worry because its a human tendency which is available in all human being not even in Indians but in other peoples also..but if we seriously think about it then we understand it totally that it was our fault....even when some body takes your decisions on your behalf and those decisions are wrong..but still it was your fault...because its your life you should have to speak...and keeping your mouth shut was your fault...Then try adjust your life with you..face yourself ...face your mistakes..face your fear..and finally face your Life......

We have many phrases in our life...some are happy and some may be sad..and we have to tackle all those ..it is just like a season..they will change automatically if today some thing is not going perfectly don't worry,have faith u will have your great day soon...never loose the hope...don't ever try to give up...Live the life fully whether it is good or bad....because "ye zindagi na milegi dobara"..so if it is sad phrase then not to worry..don't think foolish..just keep it simple with your positivity...be positive(it can be your blood group also)..have fun.... 

just a thought guys...read it and respond....